Monday, August 15, 2022
HomeBollywoodरातों-रात फिल्म से इस अदाकारा को किया गया था बाहर, बयां किया...

रातों-रात फिल्म से इस अदाकारा को किया गया था बाहर, बयां किया दर्द बोलीं- ‘सबकुछ खत्म हो गया था’

मुंबई। फिल्म इंडस्ट्री में जितनी ही शान- शौकत है उतनी ही कठिनाइयों का भी सामना करना पड़ता है। क्यों कि इस चमचमाती दुनिया में काफी अंधेरा भी देखने को मिलता है। बॉलीवुड में एक्टर्स को कई बार रिजेक्शन का सामना करना पड़ता है. कई बार एक्टर्स ने बताया है कि कैसे उन्हें फिल्मों से निकाला गया था। और अब इस कड़ी में ‘उरीः सर्जिकल स्ट्राइक’ और ‘मिशन मंगल’ जैसी फिल्मों में नजर आ चुकीं एक्ट्रेस कीर्ति कुल्हारी इन दिनों चर्चा में बनी हुई हैं।

कीर्ति कुल्हारी ने हाल ही में खुसाला किया कि कैसे उन्हें रातों-रात साउथ के एक फिल्म से हटा दिया गया था, जब वह अपने जीवन के सबसे कठिन दौर से गुजर रही थीं। एक्ट्रेस ने कहा कि उन्हें महसूस होने लगा था की अब सब कुछ खत्म हो चुका है। आपको बता दें कि कीर्ति के बॉलीवुड करियर की शुरुआत साल 2010 में रिलीज हुई फिल्म ‘खिचड़ी द मूवी’ से हुई थी। फिल्म ‘पिंक’ में कीर्ति कुल्हारी की एक्टिंग की काफी तारीफ हुई थी। अमिताभ बच्चन और तापसी पन्नू जैसे शानदार एक्टर्स के बीच, वे अपनी खास पहचान बनाने में कामयाब रही थीं। फिल्म में उन्होंने तापसी की फ्रेंड का रोल निभाया था। इसके अलावा वे ‘शैतान’, ‘इंदू सरकार’, ‘ब्लैकमेल’, कमीना, जल, सुपर से ऊपर जैसी फिल्मों में नजर आ चुकी हैं।

आरजे सिद्धार्थ कन्नन से बात करते हुए कीर्ति कुल्हारी ने कहा, ‘एक समय था जब मुझे लगने लगा था कि मैं सब कुछ खो रही हूं। यह 2009 के आसपास की बात है, मुझे एक साउथ फिल्म मिली थी। उस समय मेरे पर्सनल लाइफ में बहुत कुछ चल रहा था, मैं अब तक के सबसे बुरे दौर से गुजर रही थी। मैं डिप्रेशन से गुजर रही थी। उस दौरान मुझे यह फिल्म मिली, मैंने फिल्म के लिए फोटोशूट भी करवाया था। फोटोशूट से वापस आने के बाद इन लोगों ने मुझे कभी भी अपने साथ शूटिंग करने के लिए नहीं बुलाया।

कीर्ति कुल्हारी ने आगे कहा, “मुझे रिप्लेस कर दिया गया था। तब मुझे इसका आभास भी नहीं हुआ। मुझे नहीं पता कि मेरे साथ ऐसा क्यों हुआ। मुझे रातों-रात फिल्म से बदल दिया गया। व्यक्तिगत रूप से जो मेरे साथ हो रहा था उसने मुझे एक तरह से हिलाकर रख दिया। उस दिन मुझे पहली बार महसूस हुआ कि यह अंत है, सबकुछ खत्म हो गया है। अब मुझे ऐसे ही रहना होगा, मैं इससे बाहर नहीं आ सकती हूं। और यही मेरा जीवन होने वाला है। वह डरावना था।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular