Thursday, August 18, 2022
HomeBollywoodकॉमेडी क्वीन भारती सिंह कि ऐसी थी जिंदगी, सबको हंसाने वाली खुद...

कॉमेडी क्वीन भारती सिंह कि ऐसी थी जिंदगी, सबको हंसाने वाली खुद हो जाती है उदास, शेयर की स्ट्रगल वाले दिन

मुंबई। कॉमेडी क्वीन भारती सिंह अक्सर अपनी अदाओं से सबको हसाती रहती है। लेकिन कभी क्या अपने सोचा है कि सबको हसाने वाली खुद इस स्थिति से गुजरी है। हालांकि कि कई बार उन्होंने अपनी जिंदगी से जुड़े किस्से साझा भी किए है। भारती सिंह अक्सर ही अपने स्ट्रगल और इंडस्ट्री में अनुभवों को शेयर करती रही हैं। अक्सर उन्हें अपने बचपन के दिनों को याद करते देखा गया है। अब एक बार फिर भारती सिंह ऐसा ही करती नजर आ रही हैं। भारती सिंह ने इंडस्ट्री में अपने शुरुआती दिनों को याद करते हुए अपने संघर्ष के बारे में बात की है। दरअसल, कॉमेडी क्वीन हाल ही में मनीष पॉल के चैट शो में पहुंची थीं। जहां उन्होंने बताया कि जब वह इंडस्ट्री में नई थीं, शोज में लोग उन्हें गलत तरीके से छूने की कोशिश करते थे।

भारती सिंह ने मनोरंजन जगत में ‘लाफ्टर चैलेंज’ से अपनी शुरुआत की थी। शो में बातचीत के दौरान भारती सिंह ने यह भी बताया कि कैसे उन्होंने बचपन में अपनी मां को मुश्किलों से गुजरते देखा। कॉमेडी क्वीन कहती हैं- ‘मैंने देखा है कि कैसे लोग पैसे मांगने के लिए मेरे घर आ जाते थे। वह जबरन मेरी मां का हाथ पकड़ लेते थे। तब मुझे नहीं पता था कि वह क्या कर रहे हैं। कोई उनका हाथ पकड़ता था, तो कोई कंधे पर हाथ रख लेता था। मेरी मां कहती थीं ‘तुम्हें शर्म नहीं आती, मेरे बच्चे हैं। मेरे पति नहीं रहे। और तुम लोग मेरे साथ इस तरह का व्यवहार कर रहे हो। इससे पहले भी कई बार भारती को उनके स्ट्रगल के बारे में बात करते देखा गया है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maniesh Paul (@manieshpaul)


भारती सिंह का कहना है कि मनोरंजन उद्योग में ज्यादातर पुरुष ऐसे होते हैं, जो महिलाओं के साथ गलत व्यवहार करते हैं। कॉमेडी क्वीन ने बताया कि जब वह छोटी थीं तो उन्होंने अपनी मां को बुरे वक्त से गुजरते देखा था। शो में मनीष पॉल से बात करते हुए भारती सिंह कहती हैं- ‘इवेंट के कॉर्डिनेटर्स ने कई बार मेरे साथ गलत व्यवहार किया। वह मेरी पीठ पर हाथ रगड़ते हुए जाते थे। मुझे पता था कि यह एक अच्छा एहसास नहीं है, लेकिन फिर लगता था, ये मेरे अंकल के उम्र के हैं। मेरे साथ गलत नहीं कर सकते।

भारती कहती हैं कि आज जाकर उन्हें समझ आया कि वह जो व्यवहार था, गलत था। लेकिन उस समय उन्हें ये बात समझ नहीं आती थी। भारती आगे कहती हैं- ‘मुझे लगता था कि शायद मैं गलत हूं। तो मुझे लगा कि यह ठीक नहीं लग रहा। लेकिन, मुझे उस वक्त कोई समझ नहीं थी। मुझमें अब लड़ने का आत्मविश्वास है। अब मैं कह सकता हूं ‘क्या बात है, क्या देख रहे हो, बाहर जाओ हम चेंज कर रहे हैं। मैं अब बोल सकती हूं, लेकिन तब मुझमें इतनी हिम्मत नहीं थी।

RELATED ARTICLES

Most Popular