Wednesday, September 28, 2022
HomeInterviewMandakini: ब्रेस्टफीडिंग सीन पर मंदाकिनी (Mandakini) ने सालों बाद तोड़ी चुप्पी 

Mandakini: ब्रेस्टफीडिंग सीन पर मंदाकिनी (Mandakini) ने सालों बाद तोड़ी चुप्पी 

Mandakini:साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म राम तेरी गंगा मैली हो गई है राज कपूर के निर्देशन में बनी ब्लॉकबस्टर हिट फिल्म रही। इस फिल्म ने मंदाकिनी (Mandakini) को रातों-रात स्टार बना दिया था। पहली ही फिल्म में मंदाकिनी (Mandakini) ने बोल्ड सीन देकर हलचल मचा दी थी। फिल्म के दो सीनों की आज तक चर्चा होती है। पहला जिसमें वह केवल सफेद कपड़े पहने एक झरने के नीचे नहा रही हैं और दूसरा, जिसमें वह अपने बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराती हुई दिखाई दे रही हैं। 

Mandakini:साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म राम तेरी गंगा मैली हो गई है राज कपूर के निर्देशन में बनी ब्लॉकबस्टर हिट फिल्म रही। इस फिल्म ने मंदाकिनी (Mandakini) को रातों-रात स्टार बना दिया था। पहली ही फिल्म में मंदाकिनी (Mandakini) ने बोल्ड सीन देकर हलचल मचा दी थी। फिल्म के दो सीनों की आज तक चर्चा होती है। पहला जिसमें वह केवल सफेद कपड़े पहने एक झरने के नीचे नहा रही हैं और दूसरा, जिसमें वह अपने बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराती हुई दिखाई दे रही हैं।

राजकपूर ने मंदाकिनी (Mandakini) को रातों-रात मशहूर कर दिया था। इस फिल्म के बाद भी वो कई फिल्मों में नजर आयीं लेकिन उतनी सफलता हासिल नहीं हुई जितनी की पहली फिल्म में हुई थी। इसके बाद मंदाकिनी दलाई लामा के रास्तों पर चलीं और अपना समय तिब्बती योग को समर्पित करने लगी थीं। वहां, वह अपने जीवन के प्यार एक पूर्व बौद्ध भिक्षु ‘डॉ कग्यूर टी रिनपोछे ठाकुर’ से मिली थीं और दोनों ने शादी कर ली। मंदाकिनी के एक बेटा रब्बल ठाकुर और एक बेटी रबज़े इनाया ठाकुर है।

राम तेरी गंगा मैली हो गई के 37 सालों बाद मंदाकिनी ने फिल्म के ब्रेस्टफीडिंग वाले सीन पर चुप्पी तोड़ी। हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में इस फिल्म के ब्रेस्टफीडिंग सीन का जिक्र होने पर मंदाकिनी ने कहा कि जो कुछ भी शूट किया गया था, वह उस कामुकता से बहुत अलग था, जो आजकल इस्तेमाल की जाती है। उन्होंने कहा, सबसे पहले, तो यह एक स्तनपान का सीन नहीं था, लेकिन उसे इस तरह से शूट किया गया था कि देखने में वह वैसा सीन लगे।

अगर मैं यह समझाऊं कि यह कैसे किया गया, तो यह एक बहुत लंबी कहानी हो जाएगी। उस वक्त मेरा जितना क्लीवेज दिख रहा था, उससे ज्यादा तो लोग आजकल कपड़ों में दिखाते हैं। आजकल फिल्मों में जिस तरह से स्किन शो होता है, उसके मुकाबले वह तो कुछ भी नहीं था। हमें तो इस बारे में बात भी नहीं करनी चाहिए। स्तनपान का सीन एकदम प्योर था। उसे बड़ी ही पवित्रता के साथ शूट किया गया था। जबकि आजकल फिल्मों में सिर्फ सेक्शुएलिटी ही नजर आती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular