Saturday, December 10, 2022
HomeBollywoodMoushumi Chatterjee: मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) जिन्होंने खूबसूरती की दी अलग परिभाषा

Moushumi Chatterjee: मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) जिन्होंने खूबसूरती की दी अलग परिभाषा

Moushumi Chatterjee: हिंदी सिनेमा और बंगाली सिनेमा जगत की खूबसूरत अभिनेत्री मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) आज अपना 74वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रही हैं। मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) वो अभिनेत्री रहीं जिन्होंने खूबसूरती की अलग परिभाषा दी। उन्होंने कभी अपने लुक के लिए कोई सर्जरी नहीं करायी। मौसमी के दांतों में  गैप है और उनके दांत के ऊपर दांत भी हैं।

जब मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee)  ने फिल्मों में कदम रखा तब उन्होंने दांतों की सर्जरी करवाने की सलाह दी गई थी लेकिन उन्होंने इससे इंकार कर दिया। उन्होंने बिना सर्जरी करवाये ही कई मशहूर फिल्मों में काम किया और खूबसूरती के मामले में अपने दौर की दूसरी अभिनेत्रियों को मात दी।

मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) को बचपन से ही एक्टिंग का काफी शौक था। कोलकाता में उनके घर के आसपास ही कई फिल्मी स्टूडियोज थे। एक दिन मौसमी वहां से गुजर रही थीं, तभी मौसमी पर उन दिनों के मशहूर फिल्म मेकर तरुण मजूमदार की नजर पड़ी और उन्होंने उसी वक्त मौसमी को अपनी बंगाली फिल्म ‘बालिका वधू’ के लिए चुन लिया। साल 1967 में मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) बालिका वधू फिल्म में नजर आयीं।

इस फिल्म के बाद जैसे ही उनके करियर के रास्ते खुलने लगे कि इतने में उनकी शादी हो गई। जब वो 10वीं क्लास में पढ़ती थीं। उसी वक्त उनकी चाची की तबियत काफी खराब थी ऐसे में उनकी आखिरी चाहत थी कि वो मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) की शादी देख लें। चाची की आखिरी इच्छा को पूरी करने के लिए मौसमी की शादी 15 साल की उम्र में करवा दी गई।

शादी के बाद मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) के सपने को उनके ससुर और पति ने पूरा किया। शादी के बाद उन्होंने मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) को फिल्मों में काम करने की इजाजत दी। साल 1972 में रिलीज हुई फिल्म अनुराग से मौसमी चटर्जी (Moushumi Chatterjee) ने अपना डेब्यू किया था। अपनी पहली ही फिल्म से मौसमी दर्शकों के दिलों पर छा गईं।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular