Friday, February 3, 2023
HomeBollywoodजब मुंबई छोड़कर निराश मन से धर्मेंद्र ने घर वापसी का लिया...

जब मुंबई छोड़कर निराश मन से धर्मेंद्र ने घर वापसी का लिया था प्लान, इस अभिनेता ने दिया था साथ

Dharmendra: हिंदी सिनेमा के मोस्ट हैंडसम और डैशिंग एक्टर धर्मेंद्र (Dharmendra) की खूबसूरती की तारीफ सभी करते हैं। खुद हिंदी सिनेमा के ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार  (Dilip Kumar) भी उनकी पर्सनालिटी की तारीफ करते थे। 8 दिसंबर को धर्मेंद्र (Dharmendra) अपना 87वां बर्थडे सेलिब्रेट करेंगे। बरसों फिल्म इंडस्ट्री में काम करके धर्मेंद्र (Dharmendra) बहुत नाम कमाया और पैसा कमााया। लेकिन एक दिन ऐसा भी जब मुंबई में उन्हें भूखे और प्यासे दिन गुजराने  पड़े थे। हालातों से हार मानते हुए उन्होंने घर वापस जाने का इरादा बना लिया था।

Dharmendra: हिंदी सिनेमा के मोस्ट हैंडसम और डैशिंग एक्टर धर्मेंद्र (Dharmendra) की खूबसूरती की तारीफ सभी करते हैं। खुद हिंदी सिनेमा के ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार  (Dilip Kumar) भी उनकी पर्सनालिटी की तारीफ करते थे। 8 दिसंबर को धर्मेंद्र (Dharmendra) अपना 87वां बर्थडे सेलिब्रेट करेंगे। बरसों फिल्म इंडस्ट्री में काम करके धर्मेंद्र (Dharmendra) बहुत नाम कमाया और पैसा कमााया। लेकिन एक दिन ऐसा भी जब मुंबई में उन्हें भूखे और प्यासे दिन गुजराने  पड़े थे। हालातों से हार मानते हुए उन्होंने घर वापस जाने का इरादा बना लिया था।

मुश्किलों के इस वक्त में धर्मेंद्र (Dharmendra)  का साथ मनोज कुमार ने दिया था। मनोज कुमार उनके ऐसे खास दोस्त साबित हुए जिन्होंने धर्मेंद्र को इस मुश्किल भरे वक्त से बाहर निकाला था। धर्मेंद्र जब पंजाब से हीरो बनने के लिए मुंबई आए थे उस वक्त उनकी दोस्ती मनोज कुमार से हुई थी। दोनों एक ही रास्ते पर थे यानि की स्ट्रगल कर रहे थे। उस दौर में मनोज कुमार और धर्मेंद्र एक दूसरे के पक्के दोस्त बन गए थे। मनोज कुमार तो घोस्ट राइटर के तौर पर काम कर अपने खर्चे-पानी का जुगाड़ कर लिया करते थे, लेकिन धर्मेंद्र के पास ऐसा कुछ नहीं था। लंबा वक्त हो गया था लेकिन धर्मेंद्र को कोई काम नहीं मिल रहा था। नौबत ऐसी आ गई थी कि एक वक्त की रोटी भी नसीब हो पाना मुश्किल हो गया था।

हताश होकर धर्मेंद्र अपने घर वापस पंजाब जाने को तैयार हो गए थे। एक दिन निराश धर्मेंद्र स्टेशन पहुंचें और ट्रेन में बैठ भी गए थे,तभी इसकी जानकारी मनोज कुमार को हुई और वह तुरंत स्टेशन पहुंचें और धर्मेंद्र को ट्रेन से उतार लिया। मनोज कुमार ने धर्मेंद्र को समझाया कि हौसला रखो सबकुछ ठीक हो जायेगा। धर्मेंद्र ने मनोज कुमार की बात मान ली और वापस मुंबई में रुक गए।

साल 1960 में धर्मेंद्र को अर्जुन हिंगोरानी ने फिल्म ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ के साथ अपनी एक्टिंग पारी की शुरुआत की। इस फिल्म के बाद धर्मेंद्र ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने अपने दम पर एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दी और बन गए हिंदी सिनेमा के हीमैन।

RELATED ARTICLES

Most Popular