Saturday, July 2, 2022
HomeBollywood37 Years of Arjun: फिल्म अर्जुन (Arjun) से सनी देओल (Sunny Deol) को...

37 Years of Arjun: फिल्म अर्जुन (Arjun) से सनी देओल (Sunny Deol) को मिली थी नयी पहचान

37 Years of Arjun: बॉलीवुड के मशहूर एक्टर सनी देओल (Sunny Deol) इंडस्ट्री का एक बड़ा नाम है। उन्हें पर्दें पर देखकर फैंस खुशी से झूम उठते हैं। सनी पॉजी का एक्शन और गुस्सैल स्वभाव दर्शकों को खूब भाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म अर्जुन (Arjun) से सनी देओल (Sunny Deol) को नयी पहचान मिली थी। आज अर्जुन को रिलीज हुए (37 Years of Arjun) 37 साल पूरे हो चुके हैं। इस खास मौके पर जानते हैं फिल्म से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से-

37 Years of Arjun: बॉलीवुड के मशहूर एक्टर सनी देओल (Sunny Deol) इंडस्ट्री का एक बड़ा नाम है। उन्हें पर्दें पर देखकर फैंस खुशी से झूम उठते हैं। सनी पॉजी का एक्शन और गुस्सैल स्वभाव दर्शकों को खूब भाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं साल 1985 में रिलीज हुई फिल्म अर्जुन (Arjun) से सनी देओल (Sunny Deol) को नयी पहचान मिली थी। आज अर्जुन को रिलीज हुए (37 Years of Arjun) 37 साल पूरे हो चुके हैं। इस खास मौके पर जानते हैं फिल्म से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से-

10 मई 1985 को रिलीज हुई फिल्म अर्जुन (Arjun) में एक ऐसे युवा की कहानी दिखाई गई थी जो जो क्राइम, करप्शन, अन्याय के बीच अपने एजुकेशन, करियर और फैमिली लाइफ को लेकर जद्दोजहद करता है और विद्रोह कर बैठता है। फिल्म में सनी देओल (Sunny Deol) ने लीड भूमिका निभाई थी उनके किरदार का नाम अर्जुन था। सनी देओल (Sunny Deol) ने जब ये डालॉग बड़े पर्दे पर बोला था मैं जिंदगी से नहीं अपने आप से नाराज हूं तो तहलका मच गया था। इस फिल्म के बाद सनी देओल (Sunny Deol) का ये डायलॉग युवाओं की आवाज बन गया था।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sunny Deol (@iamsunnydeol)

उस दौर मे रिलीज हुई इस फिल्म की कहानी युवाओं को खूब पसंद आयी थी। फिल्म को बेस्ट फिल्म, बेस्ट डायरेक्टर और बेस्ट स्टोरी का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था। इस फिल्म ने सनी देओल (Sunny Deol) के करियर को एक नई पहचान दी थी। फिल्म के डॉयेक्टर राहुल रवैल ने एक बार फिल्म अर्जुन (Arjun) के बारें में किस्सा शेयर करते हुए बताया था कि जावेद अख्तर ने अखबार में बई में दाऊद इब्राहिम गैंग और पठान गैंग की के बारें में पढ़ा था। वो लोग बेरोजगार, भोले-भाले नौजवान युवाओं को अपनी गैंग में शामिल करते हैं। यहीं से जावेद अख्तर को अर्जुन फिल्म का आइडिया मिला था।

जैसे ही उन्हें फिल्म का आइडिया जावेद अख्तर ने आधी रात में फोन करके राहुल रवैल को उठा दिया। जावेद ने कहा कि मेरे दिमाग में फिल्म बनाने का एक कमाल का आइडिया आया है। इतना ही नहीं महज 3 घंटे के अंदर फिल्म की स्क्रिप्ट भी तैयार कर डाली। ये फिल्म जब रिलीज हुई तो सुपरहिट रही।

 

 

RELATED ARTICLES

Most Popular