Friday, October 7, 2022
HomeBollywoodहमारी अधूरी कहानी : राज कपूर और नरगिस की प्रेम कहानी

हमारी अधूरी कहानी : राज कपूर और नरगिस की प्रेम कहानी

हिंदी सिनेमा के दिग्गज कलाकार शोमैन के नाम से मशहूर राजकपूर और नरगिस की प्रेम कहानी से तो हर कोई वाकिफ है। हिंदी सिनेमा जगत के सितारों की प्रेम कहानियों की बातें की जायें और उनमें नरगिस-राजकपूर का नाम ना हो तो ये बहुत गलत होगा।

हिंदी सिनेमा के दिग्गज कलाकार शोमैन के नाम से मशहूर राजकपूर और नरगिस की प्रेम कहानी से तो हर कोई वाकिफ है। हिंदी सिनेमा जगत के सितारों की प्रेम कहानियों की बातें की जायें और उनमें नरगिस-राजकपूर का नाम ना हो तो ये बहुत गलत होगा।

उस वक्त नरगिस और राजकपूर के प्यार के किस्सों की हर जगह चर्चा होती थी। दोनों की जोड़ी रील लाइफ से लेकर रियल लाइफ तक बहुत पसंद की गई। लेकिन क्या प्यार भी हुआ इकरार भी हुआ, दो दिल जुड़े और फिर हमेशा के लिये अलग हो गये। ये प्रेम कहानी हमेशा के लिये अधूरी रह गई। लेकिन अधूरी होने के बावजूद हमेशा के लिये अमर हो गई। आज भी लोग नरगिस और राजकूपर की प्रेम कहानी की चर्चा करते हैं।

जब राजकपूर को नरगिस से प्यार हुआ तो वो पहले से ही शादी शुदा थे और उनके बच्चे भी थे। लेकिन नरगिस को इन सबसे कोई फर्क नहीं पड़ा। वो राजकपूर के प्यार में इतनी दीवानी थीं कि उन्हें कृष्णा कपूर से कोई आपत्ति नहीं थी। फिल्म आग की शूटिंग के दौरान नरगिस और राजकपूर एक दूसरे के करीब आये थे और यही से दोनों के प्यार की शुरुआत हुई थी। ये फिल्म साल 1948 में रिलीज हुई थी।

नरगिस पर राज कपूर के प्यार का ऐसा खुमार चढ़ा था कि उन्होंने राज कपूर की फिल्में करने के लिये दूसरे निर्देंशकों की फिल्में करने से इंकार कर दिया था। लेकिन जैसे-जैसे वक्त बीतता गया वैसे-वैस नरगिस को ये लगने लगा कि राज कपूर उनसे कभी शादी नहीं करेंगे।

9 साल के लंबे रिश्ते के बाद नरगिस राज कपूर से खुद को बहुत अलग महसूस करने लगीं। फिल्मों में भी राज कपूर नरगिस को जिस तरह का रोल दे रहे थे उससे वह बिल्कुल भी खुश नहीं थीं। ‘श्री 420’ में नरगिस को जो रोल मिला उससे वह बेहद नाराज भी थीं।

ऐसे में गुस्से में आकर नरगिस ने राज कपूर को बिना बताये मदर इंडिया फिल्म साइन कर ली थी। जब ये बात राज कपूर को पता चली तो उन्हें बहुत गुस्सा आया। उसी वक्त मदर इंडिया फिल्म के सेट पर आग लग गई। सुनील दत्त ने ऐसे वक्त में अपनी जान पर खेलकर नरगिस को बचाया था। सुनील दत्त ने जब ही ये सोच लिया था कि वो नरगिस से शादी करेंगे। इस हादसे के बाद नरगिस भी सुनील को चाहने लगीं थीं। फिर क्या दोनों ने साल 1958 में शादी रची ली।

इस शादी से राज कपूर पूरी तरह से टूट गये थे। इसके बाद से हर रात राज कपूर शराब पीकर घर आते थे और बाथटब में बैठकर बहुत देर तक रोते रहते थे। राज कपूर को लगता था कि नरगिस ने उन्हें धोखा दिया। नरगिस के निधन के वक्त भी राज कपूर इस बात को भूल नहीं पाये थे। जब नरगिस का निधन हुआ तो अंतिम संस्कार के वक्त राज कपूर दूर ही खड़े रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular