Wednesday, November 30, 2022
HomeBollywoodDharmendra: जब लिफ्ट रोकर धर्मेंद्र ने वैजंयती माला के लिए गाया था...

Dharmendra: जब लिफ्ट रोकर धर्मेंद्र ने वैजंयती माला के लिए गाया था ये गाना 

Dharmendra: हिंदी फिल्मों में ऐसे बहुत सारे गाने आपको देखने को मिलेंगे जो रुठने और मनाने पर बेस्ड रहे। इन गानों में देखने को मिलता हीरो, हीरोईन को मनाने के लिए हर प्रयास करता है। कभी तो नाव में बैठकर तो कभी गाड़ी पर तो कभी खुले मैदान में। लेकिन 1969 में रिलीज हुई फिल्म प्यार ही प्यार में धर्मेंद्र और वैजयंती माला का अलग ही अंदाज दर्शकों को देखने को मिला था। इस फिल्म में दोनों की केमेस्ट्री को दर्शकों ने खूब पसंद किया।

Dharmendra: हिंदी फिल्मों में ऐसे बहुत सारे गाने आपको देखने को मिलेंगे जो रुठने और मनाने पर बेस्ड रहे। इन गानों में देखने को मिलता हीरो, हीरोईन को मनाने के लिए हर प्रयास करता है। कभी तो नाव में बैठकर तो कभी गाड़ी पर तो कभी खुले मैदान में। लेकिन 1969 में रिलीज हुई फिल्म प्यार ही प्यार में धर्मेंद्र और वैजयंती माला का अलग ही अंदाज दर्शकों को देखने को मिला था। इस फिल्म में दोनों की केमेस्ट्री को दर्शकों ने खूब पसंद किया।

फिल्म प्यार ही प्यार का गाना मैं कहीं कवि ना बन जाऊं बहुत ही अलग अंदाज में फिल्माया गया था। इस गाने की शायरी और फिल्मांकन काफी कमाल का था। पूरे गाने को लिफ्ट में शूट किया गया था। गाने में धर्मेंद्र नाराज वैजयंतीमाला को मनाते हुए नजर आते हैं। धर्मेंद्र अपनी प्रेमिका बनी वैजयंती माला के लिए गाना गाते हैं और आखिर में वैजयंती माला मान भी जाती हैं। लेकिन यह सारा सीन लिफ्ट के अंदर होता है।  यह बहुत ही रोमांटिक गाना है और ठहरे हुए शब्द और संगीत जादुई असर करते हैं।

इस गाने को आज भी दर्शक बहुत पसंद करते हैं। धर्मेंद्र और वैजयंती माला ने एक ही फिल्म में साथ में काम किया लेकिन दोनों की जबरदस्त केमेस्ट्री ने फिल्म को सफल बना दिया था। फिल्म की कहानी, डायलॉग्स और इसका म्यूजिक दर्शकों को बहुत पसंद आया था।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular