Thursday, December 8, 2022
HomeBollywoodManoj Bajpai:अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) से पहली मुलाकात के दौरान नशे में...

Manoj Bajpai:अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) से पहली मुलाकात के दौरान नशे में धुत्त थे मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai)

Manoj Bajpai:अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) बॉलीवुड के महानायक हैं वहीं दूसरी ओर मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) भी इंडस्ट्री का बड़ा नाम हैं। वो हिंदी के साथ-साथ भोजपुरी इंडस्ट्री के भी बड़े अभिनेता हैं। दोनों ही अभिनेताओं ने सिनेमा जगत को एक से बढ़कर एक फिल्में दी हैं। अब ऐसे में अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) की पहली मुलाकात भी काफी खास होगी। लेकिन आपको ये जानकर बड़ी हैरानी होगी कि अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) से पहली मुलाकात के दौरान मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) नशे में धुत्त

Manoj Bajpai:अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) बॉलीवुड के महानायक हैं वहीं दूसरी ओर मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) भी इंडस्ट्री का बड़ा नाम हैं। वो हिंदी के साथ-साथ भोजपुरी इंडस्ट्री के भी बड़े अभिनेता हैं। दोनों ही अभिनेताओं ने सिनेमा जगत को एक से बढ़कर एक फिल्में दी हैं। अब ऐसे में अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) की पहली मुलाकात भी काफी खास होगी। लेकिन आपको ये जानकर बड़ी हैरानी होगी कि अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) से पहली मुलाकात के दौरान मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) नशे में धुत्त थे।

इसका खुलासा खुद मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) ने हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में किया। उन्होंने बताया कि जब अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और उनका पूरा परिवार फिल्म सत्या की स्क्रीनिंग देखने आए। उस वक्त मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) निर्देशक राम गोपाल वर्मा और क्रिटिक खालिद के साथ बाहर गाड़ी में पी रहे थे।स्क्रीनिंग के बाद मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai),अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) से मिलने से पहले काफी नर्वस थे। वो कार से बाहर ही नहीं निकल रहे थे।

खालिद ने बड़ी चालाकी से मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) को गाड़ी से बाहर कर दिया और गाड़ी अंदर से बंद कर दी, और कहा कि उन्हें जाकर अपने आइडल से मिलना चाहिए। मनोज ने कहा कि वो बहुत कंफ्यूज थे कि वो कहां जाए, ऐसे में वॉशरूम में छिपने जा ही रहे थे कि पीछे से अभिषेक बच्चन की आवाज आई जो उन्हें बधाई दे रहे थे। अभिषेक बच्चन ने उनकी बहुत तारीफ करनी शुरू की और बात करता रहा। तब तक पीछे से एक आदमी प्रकट होता है… ये सिनेमैटिक है पूरा। एक लंबा सा कद वाला आदमी पीछे से आया और वो मेरी तरफ देख रहे हैं और ये हैं श्री अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और इनको पर्दे पे देखने के बाद पहली बार देख रहा था मैं और वो भी नशे में हूं मैं।

जैसे ही उनको देखा, सच में लगा कि कान से सीटी सी आवाज निकली। सीटी सुनाई दे रही है मुझे वो कुछ बोल रहे हैं, जो मुझे उनकी आवाज सुनाई दे रही है लेकिन क्या बोल रहे हैं मुझे समझ नहीं आ रहा, क्योंकि सीटी की आवाज तेजी होती जा रही है और थोड़ा बहुत नशा भी है। अंत में मनोज वाजपेयी ने अमिताभ बच्चन से किसी तरह से साहस करके कहा, क्या मैं आपको गले लगा सकता हूं? एक सेकेंड के लिए वो रुकते हैं और फिर कहते हैं- अरे भाई क्यों नहीं। उन्होंने मुझे लगाया और वो पल में कभी नहीं भूल सकता हूं।

इसके बाद मनोज वाजपेयी (Manoj Bajpai) और अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने साथ में फिल्म सत्याग्रह, आरक्षण और अक्स में काम किया।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular