Sunday, July 3, 2022
HomeBollywoodRajesh Khanna : राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) जब बुरे दौर में खुद...

Rajesh Khanna : राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) जब बुरे दौर में खुद को अकेला महसूस करने लगे थे

Rajesh Khanna : राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार रहे। एक वक्त ऐसा रहा, उन्होंने लगातार हिंदी सिनेमा जगत को 15 सुपरहिट फिल्में दीं। राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) को भारतीय सिनेमा ने पहले सुपरस्टार का दर्जा दिया था। राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) जिस फिल्म में होते थे वो फिल्म सुपरहिट होने की गारंटी होती थी। लेकिन उन्होंने जितनी जितनी सफलता के आसमां को चूमा उतनी ही जल्दी ही उनका स्टारडम भी खत्म हो गया। एक ऐसा वक्त भी आया जब राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) बिल्कुल अकेले हो गए थे। जब राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) बुरे दौर में खुद को अकेला महसूस करने लगे थे।

Rajesh Khanna : राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार रहे। एक वक्त ऐसा रहा, उन्होंने लगातार हिंदी सिनेमा जगत को 15 सुपरहिट फिल्में दीं। राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) को भारतीय सिनेमा ने पहले सुपरस्टार का दर्जा दिया था। राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) जिस फिल्म में होते थे वो फिल्म सुपरहिट होने की गारंटी होती थी। लेकिन उन्होंने जितनी जितनी सफलता के आसमां को चूमा उतनी ही जल्दी ही उनका स्टारडम भी खत्म हो गया। एक ऐसा वक्त भी आया जब राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) बिल्कुल अकेले हो गए थे। जब राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) बुरे दौर में खुद को अकेला महसूस करने लगे थे।

आनंद बख्शी के बेटे राकेश बख्शी की किताब किस्से, नगमे, बातें यादें में खुलासा हुआ कि राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) जब बुरे दौर से गुजर रहे थे और उनकी फिल्में भी फ्लॉप होना शुरू हो गई थीं तो वो खुद को काफी अकेला महसूस करने लग गए थे। राकेश बख्शी द्वारा लिखी गई किताब में कहा गया है, राजेश खन्ना कॉल करके मेरे पापा आनंद बख्शी को कॉल करके कहते थे। मैं बहुत अकेलापन महसूस कर रहा हूं इसलिए आपको कॉल किया, कोई मुझे कॉल नहीं करता। तब मेरे पिता राजेश खन्ना जी को इमोशनल सपोर्ट दिया करते थे। बॉलीवुड इंडस्ट्री में ढलते करियर के दौर में जब राजेश खन्ना किसी के टच में नहीं थे तो वो मेरे पिता से बात किया करते थे।

राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) की फिल्में मिलन (1967) और आराधना (1969) के गाने आनंद बख्शी ने ही लिखे थे जिसके बाद उनका करियर चमक गया था।  राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) ने दो रास्ते, आन मिलो सजना, कटी पतंग, द ट्रेन, अपना देश, नमक हराम, अजनबी, प्रेम कहानी, महबूबा, अनुरोध फिल्मों के गाने आनंद बख्शी ने ही लिखे थे।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular