Friday, July 1, 2022
HomeBollywoodThe Kashmir Files : द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) की एक्ट्रेस...

The Kashmir Files : द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) की एक्ट्रेस पल्लवी जोशी ने फारुक अब्दुल्ला के बयान पर किया पलटवार 

The Kashmir Files : द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) हर दिन नया रिकॉर्ड दर्ज कर रही है। साल 1990 में कश्मीर में पंडितों के साथ जो नरसंहार हुआ फिल्म की कहानी इसी पर आधारित है। फिल्म पर राजनेता भी खूब रिएक्ट कर रहे हैं। फिल्म हर तरह से दर्शकों और ऑडियन्स का ध्यान अपनी ओर खींच रही है। क्रिटिक्स के बीच भी इस फिल्म की चर्चा हो रही है। फिल्म ने अब तक 200 करोड़ से अधिक की कमाई कर ली है। हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि उनके राज में ऐसा कुछ नहीं हुआ है। फिल्म में गलत दिखाया गया है। अब द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) की एक्ट्रेस पल्लवी जोशी ने फारुक अब्दुल्ला के बयान पर पलटवार किया है।

The Kashmir Files : द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) हर दिन नया रिकॉर्ड दर्ज कर रही है। साल 1990 में कश्मीर में पंडितों के साथ जो नरसंहार हुआ फिल्म की कहानी इसी पर आधारित है। फिल्म पर राजनेता भी खूब रिएक्ट कर रहे हैं। फिल्म हर तरह से दर्शकों और ऑडियन्स का ध्यान अपनी ओर खींच रही है। क्रिटिक्स के बीच भी इस फिल्म की चर्चा हो रही है। फिल्म ने अब तक 200 करोड़ से अधिक की कमाई कर ली है। हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि उनके राज में ऐसा कुछ नहीं हुआ है। फिल्म में गलत दिखाया गया है। अब द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) की एक्ट्रेस पल्लवी जोशी ने फारुक अब्दुल्ला के बयान पर पलटवार किया है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Anupam Kher (@anupampkher)

फारुक अब्दुल्ला ने दिए गए इंटरव्यू में कहा था कि वह यदि इस घटना के लिए जिम्मेदार हैं तो वो देश के किसी कोने में भी सूली पर चढ़ने के लिए तैयार हैं। फिल्म में गलत दिखाया गया है। उनके राज में कश्मीर में ऐसा कुछ नहीं हुआ था। अब पल्लवी जोशी ने इस पर पलटवार किया है। पल्लवी जोशी ने हाल में एक इंटरव्यू में कहा कि देखिए, पॉलिटिक्स मेरा डोमेन नहीं है। मैं नहीं जानती कि किस तरह पॉलिटीशियन्स को जवाब देते हैं। लेकिन इतना जरूर कहना चाहूंगी कि जो हमने किया है, वह चार साल के डिटेल्ड काम के आधार पर किया है। फिल्म में वही दिखाया गया है जो रिसर्च में हमें मिला है।

मेरे पास अभी भी उन सभी कश्मीरी पंडितों के बयान हैं। उन सरकारी कर्मचारियों के बयान हैं, जिन्होंने उस समय को देखा है। पुलिस से लेकर एडमिनिस्ट्रेशन तक। जितनी भी घटनाएं फिल्म में दिखाई गई हैं, हमारे पास उन सभी के वीडियो एविडेंस हैं। मुझे नहीं लगता कि 700 लोग एकजुट होकर झूठ बोलेंगे। वे 32 साल से वापस नहीं जा पाए, तो आपको इससे क्या लगता है कि उन्होंने हमसे कहानियां झूठ कही होंगी?

RELATED ARTICLES

Most Popular